TechnoGroot - BloggerRedirect.txt Displaying TechnoGroot - BloggerRedirect.txt. Rose Valley Agents Come on Delhi 6.2.17 - SadLife.In

Breaking News

Rose Valley Agents Come on Delhi 6.2.17


Rose Valley Agents Come on Delhi 6.2.17


चलो दिल्ली पहुंचो दिल्ली


*बन रणनीति तय हो गई तिथि【6-2-17】शिव सेना के समर्थन में जंतर-मंतर,दिल्ली में ललकार लगाने की...*
बन रणनीति तय हो गई तिथि, शंखनाद हो चूका है युद्ध के आगाज़ का,
*आ गया है वक़्त जंतर-मंतर रूपी शमशान घाट पर भ्रष्टाचार के रावण के अंतिम-संस्कार का।*
लिए तन-मन में दुःख से उपजे आक्रोश की अग्नि, हो सवार सशस्त्र शिव सेना के सिंह पर,
*हुंकारेंगे रोज़वैली के वीर-वीरांगनायें उतर जंतर-मंतर के युद्धस्थल पर वैरियों की भीड़ पर।*
जंतर-मंतर की रणभूमि में रिपु-दल से दो-२ हाथ होंगे, होगी रक्तरंजित भूस्थली जंतर-मंतर की जब वार होंगे सच्चाई की तलवार से भ्रष्टाचार की देह पर,
*पाएंगे अब हम अधिकार अपने आर यां पार की इस जंग【आमरण अनशन】 में तलवार की नोक पर।।*


*.चलो दिल्ली.* *.पहुंचो दिल्ली.*
*शिव सेना के भरपूर सहयोग से, गर्जेगी रोज़वैली जंतर-मंतर में सिंह के तौर से।।*
संकटग्रस्त रोज़वैली की रियाया की क्लेशित-पीड़ित-खिन्न प्रजा को सूचित किया जाता है कि *दिनांक 6 फरवरी 2017 से जंतर-मंतर की युद्ध-स्थली पर शिव सेना के भरपूर समर्थन में अनिश्चितकालीन अनशन व धरना प्रदर्शन के महासंग्राम का शंखनाद* हो चूका है।
क्योंकि हमारी अमानत में खयानत डालने व गबन करने की प्रबल इच्छा रखने वाले शत्रुदल का बल असीम है इस कारणवश रोज़वैली परिवार के प्रत्येक सदस्य को आलस-निन्द्रा का त्याग कर व अपनी आत्मा की आवाज़ सुनते हुए अपने सुप्त दीनो-ईमान को जगा वचन निभाने[अभिकर्ता द्वारा निवेशक को दिया गया]और शत्रु-मर्दन करने हेतु दिलों में धीरता, मनों में वीरता, *उर-छाती पर शिव सेना का कवच* एवं करों में कृपाण धार जंतर-मंतर के कुरुक्षेत्र में उतर नव महाभारत को अंजाम देना है।
इस अपने हक़ वापस पाने की जंग में शिव[पुरुष] को भैरव व शक्ति[स्त्री] को काली रूप धर मैदान में तीव्र-प्रचंड-भयंकर गर्जना कर शत्रुदल *[बेईमान-प्रपंची-शठ रोज़वैली कंपनी,छानबीन की आड़ में गरीब जनता का पैसा अपनी और केंद्र सरकार की जेबों में डालने की दौड़ में लगीं बेलगाम, भ्रष्ट व केंद्र सरकार के हाथों की कठपुतलियां【ई०डी, सेबी, सी०बी०आई आदि】, सुस्त, लापरवाह व भ्रष्ट भारत की शासन व न्याय व्यवस्था]* का हृदय कम्पायमान करना ही है।

तो भारत के हर अंग[राज्य] से रोज़वैली परिवार के अभिकर्तायों का सपरिवार एवं सनिवेशक *6 फरवरी 2017* जंतर-मंतर में पहुंचना परमावश्यक है।हर एक की कोशिश रहे कि 5 फरवरी की शाम तक पहुँच जाये।
*राह संघर्ष की जो चलता है,*
*वो ही संसार को बदलता है।*
*जिसने रातों से जंग जीती है,*
*सूर्य बनकर वही निकलता है।*